31 C
Delhi
Tuesday, May 24, 2022

विधान सभा चुनाव 2022 : क्यों सुर्खियों में है जौनपुर की जाफराबाद सीट #Realviewnews

जरूर पढ़े

कांग्रेस ने आरती सिंह को बनाया बदलापुर विधान सभा से प्रत्याशी #Realviewnews

पूर्व सांसद स्व. कमला प्रसाद सिंह की हैं पौत्रवधु 2017 में एक भी सीट नहीं जीत पायी थीं कांग्रेस रियल व्यू...

जौनपुर में बसपा प्रत्याशियों के नाम पर अभी भी कर रही मंथन  #Realviewnews

रियल व्यू न्यूज, जौनपुर । भाजपा, सपा, कांग्रेस और आम आदमी पार्टी, वीआईपी जैसी पार्टियों ने जगह-जगह अपने प्रत्याशी...

जौनपुर के प्रतिष्ठित फर्म कीर्ति कुंज और गहना कोठी पर आयकर विभाग का छापा #Realviewnews

लंबी चल सकती है जांच की कार्यवाही रियल व्यू न्यूज, जौनपुर । शहर के बड़े सराफा कारोबारी और प्रतिष्ठित कीर्ति...

स्पेशल रिपोर्ट – वारीन्द्र पाण्डेय 

जौनपुर, रियल व्यू न्यूज । गंगा जमुनी तहजीब को अपने अंतस्थल में समेटे पूर्वांचल का जौनपुर शहर अपनी विरासत के कारण पूरे प्रदेश में विशिष्ट पहचान रखता है । भौगोलिक दृष्टि से जौनपुर की सीमा काफी लंबी है । यहां कुल 9 विधानसभा सीट हैं । समय समय पर यहां के विभिन्न सीटों पर सपा, बसपा, कांग्रेस एवं भाजपा के नुमाइंदों ने अपना परचम लहराया है । निवर्तमान में भाजपा ने जनपद के अधिकांश सीटों पर जीत दर्ज किया तो वही सपा एवं बसपा ने भी एक एक सीट अपने कब्जे में किया है । आसन्न 2022 की रणभेरी बजते ही विभिन्न दलों में टिकट हथियाने की होड़ लग गयी है । सबसे जादा टिकट की दावेदारी का रुझान सामान्य सीटों पर देखने को मिल रहा है । जिले की विभिन्न सीटों पर एक से बढ़ कर एक दिग्गज अपनी ताल ठोंक रहे हैं । वही जफराबाद की सीट पर भाजपा एवं सपा दावेदारों की लंबी लिस्ट देख आलाकमान के भी पसीने छूट रहे हैं । राजनीतिक रसूख के साथ भीतरघात का डर राजनीतिक पार्टियों कोअसमंजस में डाल दिया है । स्थानीय नेताओं की मानें तो प्रत्याशी की घोषणा होते ही अटकलों का दौर थम जाएगा ।
क्षेत्रफल की दृष्टि से जफराबाद गोमती और सई नदी का तरायी क्षेत्र है । जनपद मुख्यालय से सटा होने के कारण अधिसंख्य लोग किसान एवं मझोले उद्यमी है । वर्तमान में इस विधानसभा पर भाजपा का कब्जा है । 2017 के मोदी लहर में सिरकोनी ब्लाक के सेहमल गांव निवासी , पेशे से डा .हरेंद्र सिंह लगभग 85 हजार मत पाकर विजयी रहे । किंतु सूत्रों की मानें तो अपने कार्यकर्ताओं की उपेक्षा व क्षेत्र के कुछ विवादित मामलों में हरेंद्र सिंह का हस्तक्षेप क्षेत्र में उनके विरोध का कारण बन सकता है । ऐसे में दोबारा उन पर दांव आजमाने से भाजपा कतरा सकती है । दूसरे शब्दों में कहा जाय तो भाजपा में यहां से टिकट मांगने वालों की लंबी सूची है । हौज गांव निवासी किसान मोर्चा जौनपुर के पूर्व जिलाध्यक्ष एवं वरिष्ठ भाजपा नेता सुबाष शुक्ला ने पार्टी द्वारा किसे टिकट देने के सीधे सवाल से बचते हुए कहा की पार्टी जिसे भी सिंबल देगी , हम कार्यकर्ता उसके साथ रहेंगे । हमे मोदी योगी और कमल निशान से मतलब है । राजेपुर त्रिमुहानी पर खड़े युवाओं ने कहा कि जफराबाद में कोई उद्योग या कल कारखाना नही है । यहां के नौजवान रोजी रोटी की तलाश में दूसरे महानगरों में पलायन करने के लिए मजबूर हैं । इस बार जात – पात की राजनीति छोड़कर क्षेत्र के विकास के लिए वोट देना है । संतोष , अनिल , सुरेंद्र , डब्बू चौहान आदि ने कहा की हमारा क्षेत्र शिक्षा एवं प्रशासनिक सेवा में काफी आगे है । यहां माधोपट्टी के दर्जनों युवाओं ने आईएएस , पीसीएस बनकर जिले का नाम रोशन किया है । यही के गुधना निवासी ज्ञानप्रकाश सिंह मुंबई में उद्योग के माध्यम से लोगों को काम दिया है। उनकेद्वाराजफराबाद सहित जिले में कोरोना महामारी के दौरान की गयी सहायता लोगों को आज भी याद है । सुनील सिंह , संदीप सिंह , ऋतुरानी मिश्र , डा .अजेन्द्र कुमार दुबे आदि भाजपा से टिकट मांगने वाले कुछ ऐसे नाम है जो समाजसेवी के लिए तत्पर रहते हैं । वही सपा से टिकट मांग रहे स्थानीय लोगों ने इस विधानसभा में मुकाबले को काफी रोचक बना दिया है । लगातार बसपा तीन बार विधायक एवं मंत्री रहे जगदीश नारायण राय , शैलेश राय , अनामिका शर्मा , अवलोक त्रिपाठी , रत्नाकर चौबे समाजवादी पार्टी में अपनी दावेदारी ठोंक कर अपना रजनैतिक रसूख तलाश रहे हैं । सपा जफराबाद में भाजपा का खेल बिगाड़ने के लिए किसी पुराने व मजे हुए खिलाड़ी पर दांव लगा सकती है । वही बसपा ने संतोष मिश्रा उर्फ राजाबाबू , आजमगढ़ को पहले से उम्मीदवार घोषित कर अपना पत्ता खोल चुकी है । उत्तर प्रदेश में अपना राजनीतिक वजूद तलाश रही कांग्रेस योग्य उम्मीदवार के लिए माथापच्ची कर रही है । देखना यह है मल्लाहों के निर्णायक भूमिका वाली जफराबाद सीट का ऊंट 2022 में किस करवट बैठता है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

पॉपुलर

शिक्षा को अवसर में बदलने की चुनौती #Realviewnews

रीयल व्यू न्यूज ।  (शिक्षक दिवस पर आमंत्रित लेख)   लेख - अनिल यादव ( मैनेजमेंट गुरु )   लंबे अरसे के बाद आई...

अन्य

- Advertisement -

खबरे आज की

More Articles Like This