30.1 C
Delhi
Wednesday, August 10, 2022

मल्हनी उप चुनाव में भाजपा से घबराए विपक्ष ने सांसद की गाड़ी पर किया हमला #Realviewnews

जरूर पढ़े

कांग्रेस ने आरती सिंह को बनाया बदलापुर विधान सभा से प्रत्याशी #Realviewnews

पूर्व सांसद स्व. कमला प्रसाद सिंह की हैं पौत्रवधु 2017 में एक भी सीट नहीं जीत पायी थीं कांग्रेस रियल व्यू...

जौनपुर में बसपा प्रत्याशियों के नाम पर अभी भी कर रही मंथन  #Realviewnews

रियल व्यू न्यूज, जौनपुर । भाजपा, सपा, कांग्रेस और आम आदमी पार्टी, वीआईपी जैसी पार्टियों ने जगह-जगह अपने प्रत्याशी...

जौनपुर के प्रतिष्ठित फर्म कीर्ति कुंज और गहना कोठी पर आयकर विभाग का छापा #Realviewnews

लंबी चल सकती है जांच की कार्यवाही रियल व्यू न्यूज, जौनपुर । शहर के बड़े सराफा कारोबारी और प्रतिष्ठित कीर्ति...

मुझे दी गयीं जातिसूचक गाली : वी.पी. सरोज

– वारीन्द्र पाण्डेय

जौनपुर जिले की मड़ियाहूं कोतवाली पुलिस का कारनामा किसी भी दृष्टि से सही नहीं कहा जा सकता । जनता का प्रतिनिधत्व करने वाले सांसद की गरिमा को तवज्जो नहीं देनें वाली पुलिस , भला आम नागरिकों के साथ कैसा अमानवीय व्यवहार करती होंगी । इसका सहज अंदाजा लगाया जा सकता है ।

( मड़ियाहूं कोतवाली के भीतर सांसद की गाड़ी पर हमला करता सिपाही )

बताते चलें कि बुधवार की शाम मड़ियाहूं कोतवाली के सामने मछलीशहर (सु.)के सांसद वी पी सरोज के काफिले व उनके गनर पर उग्र भीड़ ने जानलेवा हमला किया । जिसमें सांसद समेत उनके अंगरक्षक एवं ड्राइव को धक्का मुक्की का सामान करना पड़ा । यह हमला स्थानीय पुलिस की सह पर किया गया । उपद्रवी लोग के साथ पुलिस भी सांसद की गाड़ी पर ईंट पत्थरों एवं लाठी से हमला करने लगी । मौके पर सांसद वी पी सरोज दूसरी गाड़ी में थे , अन्यथा उनके साथ होनेवाली किसी अप्रिय घटना से इंकार नहीं किया जासकता । मड़ियाहूं पुलिस घटना का कारण सांसद के गनर द्वारा एक पुलिस कर्मी को थप्पड़ मारना बता रही है । वही मछलीशहर के सांसद वी पी सरोज ने बताया की मल्हनी उप चुनाव में मेरी सक्रियता को लेकर विरोधी पार्टी के नेताओं ने पुलिस से मिलकर मेरे ऊपर प्राणघातक हमला कराना चाहते थे । जिसमें मड़ियाहूं कोतवाली का एक यादव सिपाही जानबूझ कर मेरे काफिले को जाम लगवा कर बीच रास्ते में रोक रखा था । श्री सरोज ने बताया की मेरे साथ चल रही गाड़ी के ड्राइव ने अपना शीशा नीचे कर रखा था । जिसे देख उक्त सिपाही ने जातिसूचक गली दिया । जिस पर भीड़ में फंसे मेरे गनर नीचे उतर कर रास्ता साफ कराने का प्रयास कर रहे थे । जहां उक्त पुलिसवाला गनर समेत मुझे गाली देते हुए हमलावर हों गया । इसी बीच भीड़ में छुपे विरोधी दल के उपद्रवी कार्यकर्ता उग्र हों मेरी गाड़ी को ग्रस्त करते हुए हमें खोज रहे थे । किंतु दूसरी गाड़ी में होने के कारण मैं बच गया । किंतु पुलिस बचाव की बजाय मेरी गाड़ी तोड़ने व बलवा कराने में लगी थी । फोन पर आप बीती बताते हुए उन्होंने कहा कि एस पी जौनपुर को घटना कि सभी जानकारी देदी है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

पॉपुलर

शिक्षा को अवसर में बदलने की चुनौती #Realviewnews

रीयल व्यू न्यूज ।  (शिक्षक दिवस पर आमंत्रित लेख)   लेख - अनिल यादव ( मैनेजमेंट गुरु )   लंबे अरसे के बाद आई...

अन्य

- Advertisement -

खबरे आज की

More Articles Like This